Sunday, May 26, 2024
-Advertisement-
HomeHealthविशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान सम्पन्न

विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान सम्पन्न

- Advertisement -

विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान सम्पन्न

4564 आशा कार्यकर्ताओं ने 8,27372 घरों पर दी दस्तक

60 कुपोषित बच्चे चिन्हित, 67 लोगों में दिखे टीबी के लक्षण

प्रयागराज 5 अगस्त 2022: एक जुलाई से 31 जुलाई तक संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान में 4564 आशा कार्यकर्ताओं ने 8,27,372 घरों पर दस्तक दी है। वहीं इस बार अभियान के दौरान बैठकों के जरिये काफी जागरूकता फैलाई गई। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ नानक सरन ने दी। डॉ॰ सरन ने अभियान की समीक्षा करते हुए कई अहम बातें साझा कीं।

सीएमओ ने बताया कि जन-जागरूकता के लिए आशा कार्यकर्ताओं की ओर से घर-घर दस्तक व ग्राम पंचायतों में बैठक, स्कूलों में रैलियों का आयोजन अभियान का विशेष हिस्सा रहा। स्वास्थ्य विभाग ने अन्य महकमों के समनव्य से सभी गांव व शहरी क्षेत्र के गली मोहल्लों में अभियान को बृहद स्तर पर चलाया है। जागरूकता ही संचारी रोगों से बचना का सबसे मजबूत विकल्प है। इसलिए जनपद वासियों से यह निवेदन है की अपने घर के आस पास पानी इकट्ठा न होने दें, इधर-उधर कूडा-कचरा व गंदगी न फैलायें, खुले मैदान या खेतों में शौच न करें। हाथ धोने व साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें।

उन्होंने बताया कि शिक्षा विभाग की ओर से ग्राम प्रधानों ने 3056 प्रभात फेरी निकाली। प्रधानों ने 2458 बैठकें कीं। ग्राम स्वच्छता समिति की 2458 बैठकें हुईं। स्कूलों में 7912 रैली/एमएमसी बैठक कराई गयी। पंचायती राज विभाग ने 4569 शौचालय का निर्माण कराया व 10313 ग्रामीण नालियों की सफाई करायी।

- Advertisement -

नगर विकास विभाग ने 3194 शहरी नालियों की साफ-सफाई व 835 स्थानों पर फागिंग कराई। पशुपालन विभाग ने 1629 सूअर पालकों की बैठक कराई। कृषि विभाग ने किसानों के साथ चूहा एवं छछून्दर रोकथाम के लिए 3130 बैठक की। ब्लॉक स्तर पर 21 कार्यक्रम व ग्राम स्तर पर कुल 1640 कार्यक्रम कराए गए।

अभियान को सफल बनाने के लिए 4564 आशा कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण दिया गया। 827372 घरों पर आशाओं ने दस्तक दी। फीवर ट्रैकिंग में कुल 511 लोगों में बुखार के लक्षण मिले। लक्षण युक्त क्षय रोग के 67 व कोविड-19 के लक्षण युक्त 139 व्यक्तियों के नमूने जांच के लिए भेजे गए।

- Advertisement -

सभी नमूनों की रिपोर्ट निगेटिव रही। 60 कुपोषित बच्चे चिन्हित किए गए इनमें से 18 बच्चों को उपचार हेतु सन्दर्भित किया गया। 1551 मातृ बैठक का आयोजन व एईएस पर चर्चा के लिए 1510 वीएचएनडी दिवस कराए गए। क्लोरीनेशन डेमों स्थल की संख्या 4142 रही। वहीं 1492 वी०एच०एन०सी० बैठक की गयी।

जिला मलेरिया अधिकारी डॉ॰ आनंद सिंह ने बताया कि आशा कार्यकर्ताओं ने दस्तक अभियान के माध्यम से स्तनपान व बच्चों के टीकाकरण एवं स्वास्थ्य और पोषण संबंधी जानकारी लोगों को दी। टीबी व कोरोना के लक्षण एवं बच्चों में दस्त, डायरिया व दिमाकी बुखार, डेंगू, मलेरिया के लक्षणों की पहचान संबंधी जानकारी से आम-जनमानस को जागरूक किया गया। टीबी व कोरोना के लक्षण युक्त व्यक्तियों के नमूनों को जांच के लिए भेजा गया।

कुपोषित बच्चों की पहचान कर इलाज के लिए उन्हें संदर्भित किया गया। एनआरसी व एसएनसीयू से डिस्चार्ज बच्चों के फॉलोअप संबंधी गतिविधियां विभाग निरंतर कर रहा है। संचारी रोगों से लड़ने के लिए कीटनाशक दवाओं का छिड़काव व फॉगिंग कराया जा रहा है।

लाभार्थियों ने की सराहना

जनपद के बादशाही मंडी क्षेत्र की निवासी संध्या वर्मा ने बताया कि “मेरे क्षेत्र की आशा कार्यकर्ता फिरदौस बानो मेरे घर दो बार आयी उन्होने मुझे व मेरे परिजनों से बात की व सभी को संचारी रोगों के विषय में जानकारी दी है।

साथ ही साफ-सफाई का ध्यान रखते हुए बरसात के पानी को घर के आस-पास एकत्र न होने देने की सलाह दी है। बादशाही मंडी के निवासी हर्ष कनौजिया ने बताया कि उनके क्षेत्र के सभासद क्षेत्र में साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखते हैं इस बीच क्षेत्रीय आशा फिरदौस बानो ने उनके घर पर आकर उनके परिजनों को बीते माह संचारी रोगों के विषय में जागरुक किया है।

Ajay Sharmahttp://computersjagat.com
Indian Journalist. Resident of Kushinagar district (UP). Editor in Chief of Computer Jagat daily and fortnightly newspaper. Contact via mail computerjagat.news@gmail.com
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular