Bihar

Dangerous tiger:रिहायशी इलाके से आदमखोर बाघ को पकड़ने की क़वायद में वन विभाग की टीम जुटी,आदमखोर बने बाघ लगातार बदल रहा है अपना ठिकाना

Dangerous tiger:रिहायशी इलाके से आदमखोर बाघ को पकड़ने की क़वायद में वन विभाग की टीम जुटी,आदमखोर बने बाघ लगातार बदल रहा है अपना ठिकाना

 Dangerous tiger:रिहायशी इलाके से आदमखोर बाघ को पकड़ने की क़वायद में वन विभाग की टीम जुटी,आदमखोर बने बाघ लगातार बदल रहा है अपना ठिकाना

dangerous tiger बगहा में जहां रिहायशी इलाके से बाघ को पकड़ने की क़वायद में वन विभाग की टीम जुट गई है

वहीं आदमखोर बने बाघ लगातार अपना ठिकाना बदल रहा है

इसलिए वन विभाग की टीम को कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है

बतादें वाल्मीकि टाइगर रिजर्व के हरनाटांड़ वन क्षेत्र से सटे बरवा व बैरिया कला गाँव में बाघ कई लोगों पर

हमला कर चुका है । वैसे तो वीटीआर जंगल से बाहर निकले बाघ ने आधा दर्जन लोगों को मार दिया है,

लेकिन इधर महज़ कुछ दिनों के भीतर लौकरिया थाना क्षेत्र के इन इलाकों में दो लोगों की बाघ के हमले में मौत हो गई है

जिसके बाद वन विभाग की ओर से बाघ को पकड़ने या जंगल की ओर भगाने को लेकर एक्सपर्ट टीमें ट्रेंगुलाइज़र

गन के सहारे बेहोश कर सुरक्षित रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही है लेकिन अभी तक नतीजा शिफ़र है ।

ऐसे में देखने वाली बात होगी कि वाल्मीकि टाइगर रिजर्व की टीम को टाइगर रेस्क्यू ऑपरेशन में कब तक

सफ़लता मिलती है,इधर रिहायशी इलाके के लोगों में बाघ की चहलकदमी औऱ

जानलेवा हमले की वारदात के बाद दहशत औऱ भय का माहौल कायम हो चला है ।

बतातें चलें कि वीटीआर जंगल में बढ़ती बाघों की संख्या से एक ओर वन विभाग उत्साहित है

तो वहीं दूसरी तरफ वनवर्ती क्षेत्र के लोगों के लिए बाघों की बढ़ती संख्या जानलेवा साबित हो रही है ।

एहतियातन वन विभाग की ओर से अभी रेस्क्यू ऑपरेशन वाले इलाकों में किसानों औऱ ग्रामीणों को खेतों की ओर जाने

से मनाही करते हुए इस पर रोक लगाने की सलाह दी गई है,ताक़ि बाघ का सफ़ल व सुरक्षित रेस्क्यू किया जा सके ।

पूरी खबर देखें

Ajay Sharma

Indian Journalist. Resident of Kushinagar district (UP). Editor in Chief of Computer Jagat daily and fortnightly newspaper. Contact via mail computerjagat.news@gmail.com

संबंधित खबरें

Adblock Detected

Please disable your ad blocker to smoothly open this content.