Uttarakhand

tourist guide: घूमने का शौक है तो 12वीं के बाद बन सकते हैं टूरिस्ट गाइड

tourist guide: घूमने का शौक है तो 12वीं के बाद बन सकते हैं टूरिस्ट गाइड

tourist guide: घूमने का शौक है तो 12वीं के बाद बन सकते हैं टूरिस्ट गाइड

लैंसडौन में निशुल्क हेरिटेज टूरिज्म गाइड प्रशिक्षण शुरू

दस दिनों तक चलेगा कार्यक्रम; रोजाना के विवरण हुए साझा

tourist guide: अगर आप घूमने के भी शौकीन हैं और अपने कम्युनिकेशन

स्किल की बदौलत जल्द ही अनजान लोगों के बीच घुल-मिल जाते हैं

तो टूरिज्म में करियर आपके लिए एक शानदार विकल्प होगा.

उत्तराखंड में टूरिज्म इंडस्ट्री का विकास तेजी से हो रहा है. यह क्षेत्र देश के सॉफ्ट पावर को

मजबूत करने के अलावा कमाई का महत्वपूर्ण जरिया है. केंद्र और राज्य सरकारें अपने-अपने स्तर पर

टूरिज्म को बढ़ावा दे रही हैं. ऐसे में टूरिस्ट गाइड (Tourist Guide) का

करियर आजकल काफी आकर्षक और फायदेमंद साबित हो रहा है.

इस फील्ड में अधिक रोजगार पैदा करने (Tourism Jobs) की क्षमता है.

देवभूमि उत्तराखंड को पर्यटन प्रदेश बनाने की दिशा में तेजी से बढ़ाए जा रहे

कदमों की कड़ी में अब यहां हेरिटेज टूर भी सैलानियों को आकर्षित करेंगे।

इसके लिए प्रदेशभर में पर्यटकों की सुविधा के लिए स्थानीय स्तर पर हेरिटेज टूर गाइड तैयार किए जा रहे है।

इसी कड़ी में पर्यटन विभाग उत्तराखण्ड और टूरिज्म एवं हॉस्पिटैलिटी स्किल

काउंसलिंग के तत्वावधान में दस दिवसीय निशुल्क हेरिटेज टूरिज्म गाइड का प्रशिक्षण प्रारंभ हो गया है।

प्रशिक्षण का शुभारंभ लैंसडौन के गढ़वाल मंडल विकास निगम के सेमिनार हाल में हुआ।

उद्धघाटन समारोह लैंसडौन विधायक श्री दिलीप सिंह रावत एवं आर्मी लैंसडोन CEO श्री साकिब आलम,

श्री कालेश्वर महादेव मंदिर के अध्यक्ष श्री राजेश ध्यानी, पुरोहित

श्री भास्कर ढोंढियाल एवं सचिव संजय कनौजिया ने दीप प्रज्वलन कर किया।

श्री कालेश्वर महादेव मंदिर के अध्यक्ष श्री राजेश ध्यानी जी ने उत्तराखण्ड मंदिर,

संस्कृति एवं लैंसडौन के ऐतिहासिक महत्व के बारें में जानकारी दी।

लैंसडौन विधायक श्री दिलीप सिंह रावत ने कहाँ कि हेरिटेज गाइड के

सभी प्रशिक्षुओं को कॉर्बेट की ट्रेनिंग भी कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी प्रशिक्षुओं को

गाइड करने के साथ साथ स्थानीय उत्पादों को भी बढ़ावा देना है

लैंसडोन CEO श्री साकिब आलम ने कहाँ कि सभी गाइड्स ये कोशिश करे

कि हम वनस्पतियो, चिड़ियाओं एवं प्रकृति के साथ काम करें। हम टूरिज्म को भी बढ़ाये,

revenue भी बढ़ाये, अपने मेहमानो को भरपूर घुमाये बस साथ ही साथ ये ध्यान रखे

की ecosystem बना रहे उद्धघाटन समारोह में पर्यटन विभाग की अपर निदेशक पूनम चंद ऑनलाइन जुडी।

उन्होंने बताया कि आने वाला भविष्य हेरिटेज टूरिज्म का है। इसके लिए युवाओं को

अपने क्षेत्र की इतिहास और ऐतिहासिक स्थलों की गहन जानकारी होनी जरूरी है।

ट्रेनिंग का उद्देश्य है कि प्रशिक्षुओं को सही तरीके से ट्रेनिंग दे जिससे वो पर्यटकों को सही तरीके से गाइड करें,

उनका मार्गदर्शन- पथप्रदर्शन अच्छी तरीके से करें क्यूंकि वो हमारी संस्कृति का आईना होंगे।

लैंसडोन में हास्पिटेलिटी स्किल काउंसिल (टीएचएससी) के माध्यम से युवाओं को

हेरिटेज टूर गाइड का प्रशिक्षण दिया जायेगा, गाइड प्रशिक्षण के लैंसडौन बैच में प्रतिभागियों को प्रशिक्षण के लिए

रजिस्ट्रेशन हुआ है। 10 दिन के प्रशिक्षण के बाद टूरिस्ट गाइड का सर्टिफिकेट दिया जाएगा।

इस प्रशिक्षण की अवधि 10 दिन होगी जिसमे लैंसडौन एवं आसपास के पर्यटन एवं अन्य क्षेत्र के

विशिष्ट व्यक्तियों द्वारा प्रशिक्षण दिया जायेगा। प्रशिक्षुओं को हेरिटेज टूरिज्म और हेरिटेज टूर गाइड की प्रस्तुति,

व्यवहार, संचार, उत्तराखंड विरासत स्थल के रूप में तथा सतत और जिम्मेदार पर्यटन आदि

विभिन्न पक्षों पर प्रशिक्षण दिया जायेगा। प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षुओं को हेरिटेज साइट की यात्रा भी कराई जाएगी।

प्रशिक्षण के लिए 12वीं पास 18 से 55 साल तक की आयु का कोई भी व्यक्ति आवेदन कर सकता है।

10 दिन के प्रशिक्षण के बाद Tourist Guide का सर्टिफिकेट दिया जाएगा।

ट्रेनिंग पार्टनर समर्पित मीडिया सोसाइटी द्वारा लैंसडौन में ट्रेनिंग का सञ्चालन किया जा रहा है।

उद्धघाटन कार्यक्रम का संचालन सीमा शर्मा द्वारा किया गया।

उद्धघाटन समारोह में gmvn लैंसडाउन एवं एवं पौड़ी पर्यटन विभाग के

अधिकारी, समर्पित मीडिया सोसाइटी के संरक्षक पंकज शर्मा मौजूद रहे।

 

पूरी खबर देखें

Ajay Sharma

Indian Journalist. Resident of Kushinagar district (UP). Editor in Chief of Computer Jagat daily and fortnightly newspaper. Contact via mail computerjagat.news@gmail.com

संबंधित खबरें

Adblock Detected

Please disable your ad blocker to smoothly open this content.