Technology

Diesel Car चलाते समय कभी न करें ये गलतियां, कोल्ड रेविंग से बचने के साथ एग्जॉस्ट पर दें ध्यान 

Diesel Car चलाते समय कभी न करें ये गलतियां, कोल्ड रेविंग से बचने के साथ एग्जॉस्ट पर दें ध्यान 

Diesel Car चलाते समय कभी न करें ये गलतियां, कोल्ड रेविंग से बचने के साथ एग्जॉस्ट पर दें ध्यान

Diesel Car: दुनिया भर में लगातार सख्त हो रहे एमीशन नॉर्म के चलते लगातार

डीजल कारों की मांग खटती जा रही है। इसके बावजूद भी भारतीय बाजार में

डीजल कारों काफी डिमांड है और सड़कों पर ये भारी मात्रा में फर्राटा भरते हुए नजर आती हैं।

अगर भविष्य में डीजल कारों को बंद किया जाता है, तो इसका सबसे ज्यादा

असर मारुति सुजुकी और हुंडई पर पड़ेगा। आइए, जान लेते हैं

यह भी पढ़ें :diesel car: डीजल की कारें मात्र इतने साल में हो जाएंगी बंद! सरकारी पैनल ने की है सिफारिश, इनको मिलेगी अहमियत

कि एक डीजल कार चलाते समय किन महत्वपूर्ण चीजों का ध्यान रखना चाहिए।

कोल्ड रेविंग से बचें

इंजन चालू करने के बाद उसे गर्म होने के लिए कुछ समय देना जरूरी है।

इंजन को गर्म होने के लिए कुछ समय देने से पावरट्रेन को लंबे समय तक आकार में रहने

और बेहतर प्रदर्शन देने में मदद मिलेगी। कोल्ड रेविंग का मतलब है

जब आप इंजन को चालू करने के तुरंत बाद उसे घुमाना शुरू कर देते हैं।

कोल्ड रेविंग से पावर मिल को नुकसान हो सकता है, क्योंकि स्टैटिक मोड में तेल गाढ़ा होता है

और चिकनाई कम होती है। इससे पिस्टन, पिस्टन रिंग, वाल्व और

सिलेंडर जैसे महत्वपूर्ण कंपोनेंट के समय से पहले खराब होने का खतरा बढ़ सकता है।

एग्जॉस्ट पर ध्यान दें

किसी डीजल कार को उसके एग्जॉस्ट से काला धुआं निकलते हुए

देखना वाहन और पर्यावरण के लिए काफी खतरनाक है। लंबे समय में यह आपके वाहन के लिए

परेशानी भरा हो सकता है। एग्जॉस्ट से निकलने वाला धुआं इस बात का संकेत हैकि पावरट्रेन में कुछ गड़बड़ है।

यह भी पढ़ें :भारत में पहले मालिक को डिलीवर हुई टोयोटा की Landcruiser 300, जानिए क्या है इस कार की खासियत

ठंड के मौसम में वाहनों से कुछ धुआं निकलना आम बात है, जो आम तौर पर वाष्प होता है।

हालांकि, सामान्य मौसम की स्थिति में एग्जॉस्ट से निकलने वाले धुएं का मतलब है

कि आपके इंजन में कुछ गड़बड़ है। एग्जॉस्ट से निकलने वाले काले धुएं का मतलब अत्यधिक ईंधन खपत,

खराब इंजेक्टर या इंजन से संबंधित अन्य कोई समस्या हो सकता है।

सफेद धुआं निकलने की वजह इंजन का कूलेंट लीक होना भी हो सकता है।

DPF को साफ रखें

DPF या डीजल पार्टिकुलेट फिल्टर, डीजल वाहनों के लिए एक महत्वपूर्ण कंपोनेंट होता है।

ये आपके वाहन से पर्यावरण में हानिकारक उत्सर्जन तत्वों को रोकता है

और कम करता है। इसे नियमित सर्विस और मेंटेनेंस के साथ साफ रखा जाना चाहिए।

डीपीएफ कालिख और कणों से भर सकता है। इसकी वजह से इंजन की पावर,

परफॉरमेंस और एफिशियंशी में दिक्कत हो सकती है। इसलिए, डीजल कार को दुरुस्त रखने के लिए

डीपीएफ का समय-समय पर निरीक्षण और सफाई आवश्यक है।

सम्बन्धित खबरें…. 

Car Insurance लेते समय ये 3 चीजें जरूर करें ऐड ऑन, पैसा वसूल रहेगी डील

Car Insurance में ये 5 चीजें जरूर जोड़ लें, वरना इस मौसम जेब कर देगा खाली! 

Car Insurance प्रीमियम कम करने की ये हैं 5 ‘निंजा’ ट्रिक्‍स, खूब बचेगा पैसा

Car Insurance : भारत में कितनी तरह की होती है कार बीमा, वह सब कुछ जानना जरूरी

 

पूरी खबर देखें

Ajay Sharma

Indian Journalist. Resident of Kushinagar district (UP). Editor in Chief of Computer Jagat daily and fortnightly newspaper. Contact via mail computerjagat.news@gmail.com

संबंधित खबरें

Adblock Detected

Please disable your ad blocker to smoothly open this content.