Uncategorized

Government’s big update on ration card holders, 2.4 करोड़ कार्ड रद्द; कहीं आपका तो नहीं

Government's big update on ration card holders, 2.4 करोड़ कार्ड रद्द; कहीं आपका तो नहीं

Government’s big update on ration card holders, 2.4 करोड़ कार्ड रद्द; कहीं आपका तो नहीं

Government’s big update on ration card holders:अगर आप राशन कार्ड धारक हैं

तो यह खबर आपके ल‍िए है. सरकार ने प‍िछले द‍िनों राशन कार्ड धारकों के ख‍िलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए

करीब ढाई करोड़ राशन कार्ड रद्द क‍िए हैं. इस बारे में सरकार की तरफ से जानकारी दी गई.

प‍िछले द‍िनों राज्यसभा में भाजपा सांसद सुशील कुमार मोदी के एक प्रश्‍न के जवाब में ग्रामीण विकास

Government’s big update on ration card holders

और उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण राज्यमंत्री

साध्वी निरंजन ज्योति (Sadhvi Niranjan Jyoti) ने यह बड़ी जानकारी दी.

महाराष्ट्र में 21.03 लाख राशन कार्ड कैंसल क‍िए

केंद्रीय राज्यमंत्री की तरफ से दी गई जानकारी में बताया गया क‍ि देश में साल 2017 से 2021 तक

पांच साल के दौरान डुप्लीकेट, अपात्र और जाली 2 करोड़ 41 लाख राशन कार्ड रद्द हुए हैं.

उन्‍होंने यह भी बताया क‍ि केवल बिहार में ही 7.10 लाख राशन कार्ड कैंस‍िल क‍िए गए हैं.

इस दौरान यूपी में सबसे ज्‍यादा 1.42 करोड़ राशन कार्ड को रद्द क‍िया गया है.

इसके अलावा महाराष्ट्र राज्‍य में 21.03 लाख राशन कार्ड कैंसल क‍िए गए.

इस बार फ‍िर से सरकार की तरफ से बड़ा कदम उठाया गया है. नेशनल फूड स‍िक्‍योर‍िटी एक्‍ट के तहत

राशन का लाभ उठाने वाले 70 लाख कार्ड धारकों को संद‍िग्‍धों की सूची में शाम‍िल क‍िया है.

केंद्र की तरफ से यह डाटा ग्राउंड वेर‍िफ‍िकेशन के ल‍िए राज्‍यों के पास भेजा गया है.

वेर‍िफ‍िकेशन में यह पता लगाया जाएगा क‍ि ज‍िनका नाम सूची में

शामि‍ल क‍िया गया है वे NFSA के तहत राशन पाने के ल‍िए पात्र हैं या नहीं.

फूड सेक्रेटरी सुधांशु पांडे ने बताया यद‍ि 70 लाख में से आधे भी न‍ियमानुसार सही नहीं पाए गए

तो उनकी जगह कैंसल करके नए पात्रों को मौका द‍िया जाएगा.

राशन कार्ड रद्द होने के बाद उनकी जगह नए पात्रों के नाम जोड़े जाते हैं.

पूरी खबर देखें

Ajay Sharma

Indian Journalist. Resident of Kushinagar district (UP). Editor in Chief of Computer Jagat daily and fortnightly newspaper. Contact via mail computerjagat.news@gmail.com

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

Please disable your ad blocker to smoothly open this content.