Sunday, May 26, 2024
-Advertisement-
HomeHealthBe careful lying on the stomach:अगर आपको भी है उल्टे लेटने की...

Be careful lying on the stomach:अगर आपको भी है उल्टे लेटने की आदत, तो हो जाइए सावधान, इन बीमारियों का हो सकता है संकेत?

- Advertisement -

Be careful lying on the stomach:अगर आपको भी है उल्टे लेटने की आदत, तो हो जाइए सावधान, इन बीमारियों का हो सकता है संकेत?

Be careful lying on the stomach:ज़्यादातर लोगों की आदत पेट के बल लेटने या सोने की होती है,

शायद आप को भी पेट के बल सोने में आराम मिलता होगा लेकिन ये आदत आपकी सेहत के लिए

- Advertisement -

बहुत नुकसानदायक साबित हो सकती है, साथ ही आपको कई बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है.

- Advertisement -

अगर स्वस्थ रहना चाहते हैं तो आज से ही अपनी ये आदत बदल दें.

आइए हम आपको तफ्सील से बताते हैं पेट के बल सोने के नुकसान.

सर्वाइकल– उल्टा सोने की वजह से हमारी बॉडी और गर्दन का पॉश्चर मुड़ा रहता है

और ब्लड सर्कुलेशन सही से नहीं हो पाता, जिसकी वजह से आपको सर्वाइकल होने के

चांस बढ़ जाते हैं और गर्दन में परमानेंट दर्द की प्रॉब्लम भी रह सकती है.

कॉन्स्टीपेशन और इंडाइजेशन- पेट के बल सोने से हमारे डाइजेस्टिव सिस्टम पर काफी प्रेशर पड़ता है

Be careful lying on the stomach

जिससे खाना डाइजेस्ट होने में परेशानी हो सकती है और आपको

कॉन्सटीपेशन या खाना सही से ना पचने की भी परेशानी बनी रह सकती है.

कमर दर्द- अगर आप लगातार पेट के बल सोते हैं तो इससे आपकी स्पाइन

यानी की रीढ़ की हड्डी के शेप में प्रॉब्लम आ सकती है और आपको कमर दर्द से जूझना पड़ सकता है.

सिरदर्द- उल्टा लेटने में गर्दन मुड़ी रहने की वजह हमारे दिमाग को पर्याप्त ब्लड और ऑक्सीज़न नहीं मिल पाते

जिससे हमें जागने पर सिरदर्द, सिर का भारी लगना और चक्कर आने की प्रॉब्लम हो सकती है.

पेट के बल सोने के सभी नुकसानों के बारे में जानने के बाद आप इनमें से किसी भी बीमारी के शिकार नहीं होना चाहोगे,

इसलिए अगर आपको लगातार पेट के बल सोने की आदत हैं तो जल्द से जल्द इसे बदल दें.

अब आपके मन में यह सवाल ज़रूर आएगा कि सोने का सही तरीका क्या होना चाहिए? तो हम आपको बता दें कि

आपको हमेशा पीठ के बल या करवट से सोना चाहिए. आयुर्वेद में भी करवट से सोने को फायदेमंद बताया जाता है.

Ajay Sharmahttp://computersjagat.com
Indian Journalist. Resident of Kushinagar district (UP). Editor in Chief of Computer Jagat daily and fortnightly newspaper. Contact via mail computerjagat.news@gmail.com
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular