KushinagarUttar Pradesh

कुशीनगर :पानी की गुणवत्ता जांचने के लिए महिलाओं को दिया गया प्रशिक्षण

कुशीनगर :पानी की गुणवत्ता जांचने के लिए महिलाओं को दिया गया प्रशिक्षण

कुशीनगर :पानी की गुणवत्ता जांचने के लिए महिलाओं को दिया गया प्रशिक्षण

Riport :S.S.Singh

कुशीनगर :जल जीवन मिशन कार्यक्रम के तहत सभी ग्राम पंचायतो से राजस्व ग्रामवार 5-5 महिलाओं को ट्रेनिंग एजेंसी

साइबर एकेडमी लखनऊ द्वारा पेयजल गुणवत्ता की जांच का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जिसके तहत महिलायें अपने गाँव

में पीने के पानी के जल श्रोतों से नमूना प्राप्त कर उसकी जांच करेंगी। प्रशिक्षण के दौरान जिला प्रयोगशाला कुशीनगर

के प्रयोगशाला प्रभारी प्रभात रंजन ने महिलाओं को गांव के पेयजल नमूनों को फिल्ड टेस्ट किट के माध्यम से पेयजल की

रासायनिक, जीवाणु और भौतिक जांच का प्रशिक्षण में नमूना लेने के जांच के बारे में जानकारी दी।

उंन्होने इसके साथ ही जल नमूनों की जांच करना भी सिखाया गया। इस प्रयोगशाला सहायक दिनेश कुमार सिंह नें

प्रतिभागियों को उनके मोबाइल से जल जीवन मिशन एप डाउनलोड कराकर रजिस्ट्रेशन कराया।

मौके पर जिला कार्यक्रम प्रबंधन इकाई के कोर्डिनेटर कैपेसिटी बिल्डिंग एन्ड ट्रेंनिंग बृहस्पति कुमार पांडेय ने

महिलाओं को बताया कि जिले में पीने के गंदे पानी से बड़ी संख्या में बीमारियां हो रही है।

दूषित पेयजल से जल जनित बीमारियां हो रही हैं, जिसकी वजह से ग्रामीणों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

ऐसे में अब यहां की महिलाएं इसका जिम्मा उठाने जा रही हैं। उन्होंने बताया की गांव की महिलाओं को न सिर्फ इसके लिए

ट्रेनिंग दी जा रही है है, बल्कि जल गुणवत्ता जांच के लिए सरकार उन्हें फील्ड टेस्ट किट भी दिया जा रहा है।

उन्होंने बताया इन महिलाओं के हाथों में हथियार के रूप में फील्ड टेस्ट किट होगी। जिससे ये महिलाएं पीने के पानी की

जांच करेंगी। जिसके लिए जिले में 7945 महिलाओं को तैयार किया जा रहा है।

उंन्होने बताया कि गांव की महिलाएं वॉटर सैंपल की

जांच करेंगी तो उनको रोजगार भी मिलेगा। महिलाओं को पानी के

हर सैंपल की जांच के लिए 20 रुपये दिये जाएंगे। योजना के तहत हर राजस्व गांव की 5 महिलाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी।

इस मौके पर उंन्होने प्रतिभागियों को पेयजल गुणवत्ता की जांच के लिए फिल्ड टेस्ट किट भी प्रदान किया।

जीआईएस कोऑर्डिनेटर विमलेश कुमार विश्वकर्मा नें बताया की इसके तहत पीने के पानी की शुद्धता की जांच के लिए

अब तक का सबसे बड़ा अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के लिए हर राजस्व ग्राम से 5 महिलाओं का चयन

किया गया है जो फील्ड टेस्ट किट से पानी की गुणवत्ता जानने के लिए 12 तरह की जांच करेंगी प्रशिक्षण के दौरान

प्रोजेक्ट मैनेजर मानिटरिंग एंड एवैल्युएशन सुखपाल, ट्रेनिंग एजेंसी साइबर एकेडमी जिला समन्वयक मुकेश रंजन मौर्य नें

भी अपने विचार रखे। इस कार्यक्रम में ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि

शेषनाथ यादव ने कीट व प्रमाण पत्र वितरित कर समूह की महिलाओं का हौसला बढ़ाया।

इस दौरान ब्लाक मिशन प्रबंधक ब्यास प्रसाद, प्रदीप कुशवाहा

परितोष दुबे नूतन दुबे और नीलम शैलेंद्र इत्यादि लोग उपस्तित थे

पूरी खबर देखें

Ajay Sharma

Indian Journalist. Resident of Kushinagar district (UP). Editor in Chief of Computer Jagat daily and fortnightly newspaper. Contact via mail computerjagat.news@gmail.com

संबंधित खबरें

Adblock Detected

Please disable your ad blocker to smoothly open this content.